पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद होगा मौक के कारणों का खुलासा, दस दिन से लापता था कंपाउंडर
उदयपुर। झाड़ोल थाना क्षेत्र के गोराणा गांव में स्थित आयुर्वेदिक हॉस्पिटल में कार्यरत कंपाउंडर का शव बुधवार को मगवास-दमाणा के आगे आवरगढ़ की पहाडिय़ों में मिला। बताया गया कि मृतक दस दिन से घर से गायब था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो पाएगा। दूसरी ओर पुलिस की पूछताछ में परिजनों ने बताया कि मृतक की मानसिक स्थिति सही नहीं थी, जिसका इलाज उदयपुर के निजी अस्पताल में चल रहा था।
पुलिस के अनुसार बुधवार शाम सूचना मिली कि मगवास-दमाणा के आगे आवरगढ़ की पहाडिय़ों में वृद्ध का शव पड़ा है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची जहां पुलिस ने शव की शिनाख्त के लिए दमाणा, मगवास के ग्रामीणों को बुलाया। गोराणा सरपंच कन्हैयालाल कटेरिया ने शव की शिनाख्त आयुर्वेदिक कंपाउंडर लालाराम के रूप में की। सरपंच ने बताया कि मृतक गोराणा आयुर्वेदिक हॉस्पिटल में कम्पाउंडर के पद पर काम करता है। पुलिस ने शव को झाड़ोल अस्पताल में मोर्चरी में रखवा कर परिजनों को सूचना दी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया।

LEAVE A REPLY