DSC_9094सिन्देसर खुर्द खदान को मिला ‘राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण अवार्ड-2013’
उदयपुर , वेदान्ता समूह की जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड की सिन्देसर खुर्द खदान को वर्ष 2013 में ऊर्जा सरक्षंण हेतु किए गये उल्लेखनीय कार्य के लिए भारत सरकार, के ऊर्जा मंत्रालय द्वारा द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह प्रतिष्ठित पुरस्कार नई दिल्ली विज्ञान भवन में 16 दिसम्बर को आयोजित समारोह में भारत के माननीय राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी एवं केन्द्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) माननीय श्री ज्योतिरादित्य एम.सिंधिया द्वारा सिन्देसर खुर्द खदान के ईकाई प्रधान श्री राजेन्द्र प्रसाद दषोरा को प्रदान किया गया। कार्यक्रम में श्री दषोरा के साथ सिन्देसर खुर्द खदान के विद्युत विभाग के प्रबन्धक श्री राजेन्द्र कुमार अग्रवाल भी उपस्थित थे।
उल्लेखनीय है कि हिन्दुस्तान ज़िंक के सभी प्लांट केप्टिव पॉवर प्लान्ट से संचालित है जिनकी वर्तमान क्षमता 474 मेगावाट है ।
हिन्दुस्तान जिंक के एसोसिएट वाइस प्रेसीडेन्ट एवं हेड – कार्पोरेट कम्यूनिकेषन श्री पवन कौषिक ने बताया कि ‘‘पवन ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिये हिन्दुस्तान जिं़क ने पवन ऊर्जा फार्मों का विस्तार भी किया है। यह फार्म गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु, राजस्थान और महाराष्ट्र में क्रियान्वित हो गये है जिससे हिन्दुस्तान ज़िक की पवन उत्पादन क्षमता 275 मेगावाट है।’’
हिन्दुस्तान जिंक विष्व का सबसे बड़ा जस्ता-सीसा उत्पादक है एवं वेदान्ता समूह भारत में एल्युमिनियम, कॉपर, आयरन ओर तथा चांदी का सर्वश्रेष्ठ उत्पादक है । हिन्दुस्तान जिं़क देष की 90 प्रतिषत जस्ता की आपूर्ति कर रहा है ।

LEAVE A REPLY