Headlines :-

खबर 1 – अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के सेकड़ो कर्मचारी  हुऐ गिरफ्तारसरकार के खिलाफ की नारेबाजी

खबर 2 राष्ट्रीय जल पुरस्कार की दौड़ में गुप्तापुरानी बावड़ियां और कुओं के रिचार्ज से मिली पहचान

खबर 3सेलेरी नहीं तो काम नहीं – डूंगरपुर में चिकित्साकर्मी हड़ताल पर

खबर 4सीएम गहलोत ने वीसी में कहा -मास्क लगाए यही दवाई का काम करेगा,कोरोना संक्रमण की स्थिति पर वीसी से जाने जिले के हालदिए निर्देश

खबर 5न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के नाम सोपा ज्ञापन

खबर 6 – पटवारी काला मास्ककाली पट्टी बांध कर काम करेंगे

………………………………………………………………………………………………………………………..

खबर 1 – अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के सेकड़ो कर्मचारी  हुऐ गिरफ्तारसरकार के खिलाफ की नारेबाजी

Udaipur.  डुंगरपुर कलेक्ट्री के बाहर अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने धरना प्रदर्शन कर सेकड़ो कर्मचारियों ने जेल भरो आंदोलन के तहत दी अपनी गिरफतारी दी और  सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर 8 सूत्री मांगों को लेकर कलेक्टर को  मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन। पिछले कई दिनों से कर्मचारी महासंघ वेतन का भुगतान दिलाने की मांग कर रहे थे।राज्य सरकार द्वारा मार्च महीने का वेतन मैं कटौती,डीए पर रोक और पीएल छुट्टियों पर रोक, और कोई कर्मचारियों का पिछले 6 महीने या 12 महीनों से वेतन नहीं मिला। जिसके बाद जेल भरो आंदोलन के तहत नारे लगाते हुए कर्मचारियों ने अपनी गिरफ्तारी दी कर्मचारियों को कलेक्ट्रेट से  पुलिस वाहन द्वारा सैकड़ों कर्मचारियों को वाहन में बैठाकर साबला तालाब के पास छोड़ा गया।

 

खबर 2राष्ट्रीय जल पुरस्कार की दौड़ में गुप्तापुरानी बावड़ियां और कुओं के रिचार्ज से मिली पहचान

Udaipur. एक बार फिर डूंगरपुर का नाम जल संचय में देश में स्थापित होने जा रहा है। इसमें डूंगरपुर के निवर्तमान सभापति केके गुप्ता को बुधवार को दिल्ली में वर्चुअल कार्यक्रम के तहत वाटर हीरोज ख़िताब के साथ सम्मानित किया जाएगा। निवर्तमान सभापति ने इस खिताब के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री के जल स्वावलंबन अभियान और वर्तमान मुख्यमंत्री के जल संरक्षण अभियान काे श्रेय दिया। देश के 10 लोगों में से डूंगरपुर के निवर्तमान सभापति को शामिल किया गया है। यह अवार्ड्स जल शक्ति मंत्री की मौजूदगी में वर्चुअल कार्यक्रम के तहत दिया जाएगा।दरअसल, दिसम्बर 2019 में देश के जल शक्ति मंत्रालय ने डूंगरपुर निकाय के सभापति केके गुप्ता को जल संचय में बेहतरीन कार्य करने पर दिल्ली में सम्मानित किया। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने डूंगरपुर निकाय के जल संचय मॉडल को देश के लिए एक उदाहरण बताया। डूंगरपुर के जल संचय अभियान से प्रेरित होकर दिल्ली सरकार ने अपने जल मंत्री को डूंगरपुर के वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट को दिल्ली में स्थापित करने डूंगरपुर अवलोकन के लिए भेजा था। जब दिल्ली की टीम ने डूंगरपुर नगरपरिषद के वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट का अवलोकन किया तो उन्होंने डूंगरपुर के वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट को दिल्ली के घरों में स्थापित करने का निर्णय लिया था। दो दिन पूर्व डूंगरपुर के वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट का निरीक्षण करने दिल्ली के जल मंत्री सत्येंद्र जैन सहित 7 सदस्यीय टीम में मुख्य अभियंता जल एवं सार्वजनिक विभाग ने डूंगरपुर के वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट को अवलोकन किया।

 

खबर 3सेलेरी नहीं तो काम नहीं – डूंगरपुर में चिकित्साकर्मी हड़ताल पर

Udaipur. पिछले कई दिनों से डूंगरपुर जनरल अस्पताल के  चिकित्साकर्मी सेलेरी नहीं मिलने की वजह से परेशान है सरकार को गुहार लगा लगा कर थक गए लेकिन शायद सरकार सुन नहीं रही।  और आखिरकार आज वागड़ के डूंगरपुर में चिकित्साकर्मी कार्य का बहिष्कार कर हड़ताल हड़ताल पर उतर गए है। आपको बता दें कि  मेडिकल कालेज ओर जिला अस्पताल प्रशासन में सैलरी को लेकर लंबे समय से चल रहा है विवाद। हॉस्पिटल के 300 कर्मियों में से किसी को 6 महीन तो किसी को 14 महीनें से सैलरी नही मिली है जिसको लेकर हॉस्पिटल कर्मचारी बुधवार को  हड़ताल पर उतर गए।  कर्मचारियों ने हॉस्पिटल परिसर  के बाहर ही अपना धरना लगा दिया है। पिछले कई दिनों से जनप्रतिनिधियों ओर प्रशासन को सेलेरी दीलाने को लेकर कई बार ज्ञापन दिए है। कर्मचारी सेलेरी नहीं मिलाने से गुस्से में है एक तो कोरोना काल ऊपर से त्यौहार सर पर है और सेलेरी  वजह से सभी परेशान है। जानिये कर्मचारियों की परेशानी। सुन लिया कर्चारियों की ज़ुबानी इनका कहना है  11 नवंबर तक अगर सैलरी का भुगतान नहीं किया तो हॉस्पिटल का कार्य बहिष्कार के साथ जेल भरो  आंदोलन किया जाएगा जिसको लेकर आज कर्मचारियों ने इमरजेंसी सेवा छोड़कर  बाकी सारी सेवाओं बहिष्कार किया। इस मामले में सीबीसी के संवाददाता ने  कार्यवाहक प्रिंसिपल डॉ. श्रीकांत असावा  से बात की जानिये उन्होंने क्या कहा।  ने  क्या कहा  सुनिए

 

खबर 4सीएम गहलोत ने वीसी में कहा -मास्क लगाए यही दवाई का काम करेगा,कोरोना संक्रमण की स्थिति पर वीसी से जाने जिले के हालदिए निर्देश

Udaipur. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को निवास पर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के लगातार कुशल प्रबंधन के कारण प्रदेश में क्रिटिकल सिंप्टोमैटिक मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। यह सुखद संकेत है कि बीते कुछ सप्ताह में अस्पतालों में ऑक्सीजन, आईसीयू और वेंटिलेटर की जरूरत वाले मरीजों की संख्या घटी है। इसके बावजूद भविष्य में संक्रमण के बढ़ने की किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हम अपनी पूरी तैयारी रखें। उन्होंने जनता से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग, सेनेटाइजार, बार-बार हाथ धोने की अपील करते हुए कहा है कि मास्क लगाए यही दवाई का काम करेगा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री सुभाष गर्ग, मुख्य सचिव निरंजन आर्य, पुलिस महानिदेशक अपराध एमएल लाठर, प्रमुख सचिव गृह अभय कुमार, सूचना एवं जनसंपर्क आयुक्त महेन्द्र सोनी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला, पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महेन्द्र कुमार परमार, नगरपरिषद आयुक्त नरपतसिंह राजपुरोहित एवं विभागीय अधिकारी भी मौजूद रहेे।

 

खबर 5न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के नाम सोपा ज्ञापन

Udaipur. न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारियों ने बुधवार को मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। प्रदेश सचिव रमेश डामोर ने बताया कि राज्य कर्मचारियों के लिए बोनस की घोषणा का हम स्वगत करते हैं। परंतु न्यू पेशन स्किम कर्मचारियों के बोनस की राशि जमा करने के लिए अन्य खातों खोलने के  पृथक योजना के स्थान पर सामान्य प्रावधायी निधि की सुविधा ही उपलब्ध करवाई जावे। डामोर ने कहा कि इस निर्णय से राजस्थान के पांच लाख एनपीएस कार्मिको को लाभ होगा।

 

खबर 6 पटवारी काला मास्ककाली पट्टी बांध कर काम करेंगे

Udaipur. राजस्थान पटवार संघ के जिलाध्यक्ष गिरवर सिंह लबाना ने बताया कि अब पटवारी अपनी मांगे मनवाने को लेकर आंदोलन की राह पर होंगे। उन्होंने राजस्थान पटवार संघ की प्रांतीय महासमिति जयपुर में हुई बैठक संबंधी जानकारी देते हुए कहा कि बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार चुनाव आचार संहिता में पटवारी चेहरे पर काले रंग का मास्क और हाथों पर काली पट्टी बांध कर कार्य करेंगे।चुनाव आचार संहिता की समाप्ति के दो दिन बाद एक दिन का पेनडाउन रखकर उपशाखा स्तर पर मांग पत्र उपखंड अधिकारी को सौंपा जाएगा। इसके सात दिनों बाद जिला स्तर पर मूक रैली निकाली जाएगी और कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा जाएगा। यदि सरकार इसके बावजूद लिखित समझौते को लागू नहीं करती है तो नौ जनवरी 2021 को जिला महासमिति रख कर उग्र आंदोलन किया जाएगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी सरकार की रहेगी।

_____________________________________________________________________

Watch Full Video On YouTube – https://youtu.be/TYTWnwPZHxI

Subscribe Our Channel – https://www.youtube.com/channel/UC13eeUsfNS-BfFgLLZzPHJw?view_as=subscriber

Like Our FaceBook Page (Udaipur Post) – https://www.facebook.com/UdaipurPost

(CBC Wire )      –https://www.facebook.com/cbcnewswire

Follow Us On Instagram (Udaipur Post) –https://www.instagram.com/udaipurpost/

(CBC Wire )      – https://www.instagram.com/cbcwire/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here