briRPJHONL023111120142Z01Z18 AMमल्लाणा गांव निवासी एक युवती ने बचपन में हुए ब्याह को नकारते हुए सोमवार को ससुराल जाने से इंकार कर दिया। लड़की का कहना था कि उसका बाल विवाह हुआ था, लेकिन अब वह बालिग हो चुकी है।

बाल विवाह के कारण मिले ससुराल में वह नहीं जाना चाहती। युवती ने रविवार सुबह 5 बजे मोबाइल पर बाल कल्याण समिति की सदस्य सुशीला राठौड को घटना की जानकारी दी।

युवती ने बताया कि ससुराल वाले उसे जबरन ले जाना चाहते हैं। समिति सदस्य की सूचना पर टहला पुलिस मौके पर पहुंची।

समिति सदस्य सुशीला ने बताया कि युवती की शादी बडी बहन के साथ-साथ हुई थी। शादी के समय उसकी उम्र 6 साल की उम्र में उसकी शादी बड़ी बहन के साथ एक ही घर में हुई थी।

वह भी एक बार ससुराल गई थी लेकिन उसके साथ पति व ससुराल वालों ने बुरा बर्ताव किया। इसलिए वह वहां जाना नहीं चाहती। एमए, बीएड कर चुकी यह युवती अभी अलवर में प्राइवेट जॉब कर रही है।

LEAVE A REPLY