राजस्थान में चुनावी जंग के दिन का एलान कर दिया गया है । ७ दिसंबर , जी हाँ यही एक दिन होगा राजस्थान में चुनावी जंग लडे जाने का। चुनावी रणभेरी बजने के साथ ही दोनों राजनैतिक पार्टियां भाजपा और कांग्रेस अपने पुरे साजो लश्कर के साथ मैदान में है। इस जंग का परिणाम आएगा ११ दिसंबर को। राजस्थान के साथ ही मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना के लिए विधानसभा चुनावों की तरीखों की घोषणा भी हो गयी है।
चुनाव आयोग ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेस में राजस्थान चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। प्रदेश में 200 विधानसभा सीटों पर 7 दिसंबर को मतदान एक ही चरण में होगा। 11 दिसंबर को मतगणा होगी। चुनाव आयोग की और से चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही प्रदेश में आचार संहिता लागू हो गई है।
मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने बताया कि राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजरोम के विधानसभा चुनाव एक साथ होंगे। चारों राज्यों में ईवीएम और वीवीपैट मशीनों से मतदान करवाया जाएगा। चुनाव आयोग ने राजस्थान के अलावा मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना के लिए विधानसभा चुनावों की तरीखों की घोषणा भी की।  छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर और 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। मध्यप्रदेश और मिजोरम में 28 नवंबर को वोटिंग होगी। वहीं, राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को मतदान होगा। सभी राज्यों के नतीजों का ऐलान 11 दिसंबर को किया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बतादें कि अभी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा की सरकार है। मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है। तेलंगाना में टीआरएस सत्ता में थी। वहां विधानसभा भंग हो चुकी है। जनता अब किसकी सरकारें चुनती है कोण इस जंग में जनता का चाहता बन क्र उभरता है और कोण कोने में पांच साल तक दुबक कर बैठ जाता है यह अब आने वाला वक़्त बताएगा।

LEAVE A REPLY