post.डेरा सच्चा सौदा चीफ राम रहीम को दो साध्वियों का रेप करने के केस में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के जज जगदीप सिंहलोहान ने 10-10 साल की सजा सुनाई। बलात्कार केस में जेल जाने के बाद से बाबा गुरमीत की अय्याशियों के कई किस्से सामने आने लगे हैं। एक चैनल की खबर के अनुसार बाबा जहां रहता था वहां एक ऐसी गुफा थी जहां वह रोज नई-नई लड़कियों के साथ अय्याशियां करता था।
गुरमीत रहीम के रोज नए-नए किस्से सामने आ रहे हैं। बाबा के पूर्व डेरा प्रेमी ने एक चैनल से बात करते हुए कहा की बाबा राम रहीम रोज नई लड़की के साथ अय्याशियां करता था।
उनका कहना है कि बाबा की गुफा का एक दरवाजा गर्ल्स स्कूल के कैंपस में खुलता था। जहां से वह रोज लड़कियों को चुनकर लाता था।
डेरा प्रेमी के अनुसार बाबा लड़कियों से जानवरों की तरह व्यवहार करता था। वह रोज नई नई लड़कियां लाता था।
उन्होंने बताया की गुफा के एक हॉल में स्विमिंग पूल भी था, जहां किसी को जानें की अनुमति नहीं थी।
डेरा प्रेमी के ने बताया यह गुफा प्रिंटग प्रेस के पास थी कभी-कभी हमारी वहां ड्यूटी लगती थी।
बाबा की गुफा से रोज आधी रात को चीख की अवाज हमे सुनाई देती थी। फिर कुछ देर बाद गुरमीत गुफा के ऊपर वाले हिस्से में आकर खिड़कियां खोलता था।
उन्होंने बताया कि जब साध्वियों ने मुझे अपना दर्द बताया तो मैने 2002 में डेरा छोड़ दिया था।
गुफा के अंदर रहती थी 200 से ज्यादा साध्वियां
बाबा जहां रहता था, उसे कहा तो गुफा जाता था, लेकिन असल में वह जगह भी किसी राजमहल से कम नहीं थी।
यहां तक कि उसने अपने लिए राजाओं की तरह हरम तक बनवा रखा था, जिसमें 200 से ज्यादा सुंदर साध्वियों को रखा गया था।
इनमें से 30 साध्वियां रोजाना बाबा की हर तरह की सेवा में तैनात की जाती थी। ये साध्वियां अब डेरे से गायब हो चुकी हैं।
बाबा को खाने-पीने का काफी शौक था। बाबा को एक्टर और गायक बनने का शौक था। गुरमीत के पूर्व ड्राइवर खट्टा सिंह ने यह सारी जानकारी देते हुए बताया कि बाबा 200 से ज्यादा साध्वियों के साथ रहता था। यहां पुरुषों के आने पर पाबंदी थी।
 डेरे के अंदर जीता था महाराजाओं जैसी लाइफ
बलात्कार केस में जेल में बंद गुरमीत सिंह राम रहीम की अय्याशियों के कई किस्से सामने आने लगे हैं।
डेरे में रह चुके उसके कर्मचारी अब सामने आकर किस्से बता रहे हैं। राम रहीम अपने डेरे में महाराजा जैसी जिंदगी जी रहा था।
बाबा शीश महल में रहता था। डेरे में उसके ऐशो-आराम के सभी साधन मुहैया कराए जा रहे थे।
उसे राजाओं जैसी पोशाकें पहनने का शौक था और उसके लिए ऐसी कई महंगी पोशाकें रोजाना तैयार करवाई जाती थीं, जिन्हें बाबा खुद ही डिजाइन करवाता था।
इसके अलावा बाबा के पास 200 से ज्यादा महंगी लग्जरी गाड़ियां थीं। इनमें कई गाड़ियां कई-कई करोड़ की थीं, जिनके डिजाइन भी बाबा ने खुद तैयार करवाए थे।
गुफा आने का होता था कोड वर्ड
– खुद को रॉकस्टार समझने वाले बाबा के डेरे में बलात्कार शब्द का के लिए एक कोड वर्ड था।
– बाबा अपनी गुफा में जिन महिलाओं के साथ अश्लील हरकतें करता था, उसे गुरमीत राम रहीम की ओर से मिली ‘माफी’ कहा जाता था।
– जब भी किसी महिला या युवती को राम रहीम के आवास यानी उसकी गुफा में भेजा जाता था। बाबा के चेले उसे ‘बाबा की माफी’ बताते थे।

LEAVE A REPLY