उदयपुर। दुनियाभर में पचास से ज्यादा हस्तियों पर अब तक मी टू केम्पेन के तहत आरोप लग चुके है। इस केम्पेन की वजह से यूएस समेत 15 देशों में कानून बदलने की कवायद चल रही है। भारत में भी कई मामले सामने आ रहे है। इस बार नगर निगम में आयोजित होने वाले दीपावली दशहरा मेले में भी जाने माने कलाकार कैलाश खेर की नाईट होने वाली है।
जबकि गायककार कैलाश खैर पर भी एक सिंगर सोना मोहपात्रा सहित कई महिलाओं ने आरोप लगाया है, कि सिंगर कैलाष खैर ने उनके साथ जबरन ऐसी हरकत की जो उनकी मर्जी के खिलाफ थी। ऐसे में चैतरफा जब कैलाष खेर ट्रोल हो रहे है तो उदयपुर नगर निगम पर भी सवाल उठ रहे है कि क्या कैलाश खेर की नाईट उदयपुर में करवानी चाहिए?
कई लोगों का मानना है कि उनकी जगह पर किसी और प्रसिद्ध सिंगर को बुलाया जाना चाहिए। इस मामले पर कांग्रेस के नेता दिनेश श्रीमाली और प्रतिपक्ष नेता मोहसिन खान ने अपना विरोध जताया है। उनका कहना है कि भारतीय संस्कृति की बात पर देश में बड़ी – बड़ी बातें करने वाले भारतीय जनता पार्टी के कई नेता भी मी टू मामले में फंसत्ते नजर आ रहे। कई अभिनेताओं पर भी आरोप लग रहे है और ऐसे में निगम की ओर से आयोजित दीपावली दशहरा मेले में इस तरह के एक आरोपी कलाकार को बुलाना बहुत गलत होगा। जिसका विरोध भी स्वाभाविक रूप से किया जाएगा। आपको बता दे 2006 में सामाजिक कार्यकर्ता तराना बर्क ने पहली बार मी टू केम्पेन शुरू किया था।

LEAVE A REPLY