l_roadways-581b0c29d1a9eउदयपुर.

रोडवेज प्रबंधन ने कुछ माह पूर्व आय बढ़ाने के लिए बस सारथी योजना को पुन: लागू किया, लेकिन इसके नियम सख्त होने से अधिकतर लोगों ने योजना के प्रति रुचि नहीं दिखाई। एेसे में रोडवेज प्रबंधन ने इसके नियमों को कुछ सरल किया है।

रोडवेज सूत्रों के अनुसार गत दिनों मुख्यालय से बस सारथी योजना के नियमों को कुछ सरल बनाने के संबंध में आदेश मिला। नियमों में बदलाव के बाद लोगों ने योजना के प्रति रुचि दिखाई है जिससे निश्चित ही रोडवेज की आय में बढ़ोतरी होगी।

इन नियमों में हुआ बदलाव

योजना के तहत अब अंतरराज्यीय बसें भी दी जा सकती है। नए नियमों का लक्ष्य न्यूनतम 60 प्रतिशत रखा गया है। साथ ही इस योजना के तहत बस सुपुर्द करने से पूर्व गत 36 माह का औसत निकालने के नियम में भी बदलाव किया गया है।

पहले ये थे नियम

योजना के तहत पहले न्यूनतम लक्ष्य 70 प्रतिशत था। 36 माह का औसत निकाल कर लक्ष्य निर्धारित किया जाता था। नए नियमों में गत तीन वर्ष के प्रत्येक माह का औसत निकाला जाएगा। इसके आधार पर लक्ष्य निर्धारित होगा। अंतरराज्यीय बसों को इस योजना में जोडऩे से भी लोग आकर्षित हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY