सदस्यों ने सडक सुदृढीकरण, बिजली, पेयजल के मुद्दे प्रमुखता से उठाये
उदयपुर, जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक शुक्रवार को जिला प्रमुख श्रीमती मधु मेहता की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिसमें सदस्यों जिले की सडकों की मरम्मत का मुद्दा गंभीरता से उठाया।
जिला प्रमुख ने सार्वजनिक निर्माण विभाग को निर्देश दिये कि वे इस मुद्दे को गंभीर होकर निपटाएं। बैठक में उदयपुर-सलूम्बर मार्ग को फोरलेन में तब्दील करने की मांग सदस्य ख्यालीलाल सुहालका ने उठायी। बैठक में बदहाल सडकों को तुरन्त मरम्मतगी एवं क्षेत्र में आ रहे बिजली खम्भों, तीव्र मोड व स्पीड ब्रेकर की समस्या का भी शीघ्र निस्तारण के निर्देश संबंधित विभागों को दिये। बैठक में किसानों को रात के बजाए दिन में बिजली देने की मांग उठाई गई साथ ही कई स्थानों पर अव्यवस्थित बिजली के तारों को सुधारने के निर्देश दिए गए।
बैठक में स्वीकृत हेण्डपम्प की स्थापना का कार्य समय रहते पूरा करने को कहा गया ताकि गर्मी से पूर्व पेयजल समस्या का स्थायी समाधान हो सके। जलदाय विभाग को पर्याप्त पेयजल पाइपलाइनें बिछाने, टंकियों की स्थापना एवं उनसे जल वितरण की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए।
इस अवसर पर सांसद रघुवीर मीणा ने कहा कि जिन विभागों के मामले में समस्याएं उठाई गई है उनका अधिकारीगण व्यक्तिश: जाकर आंकलन करें और उनके प्रभावी निराकरण की व्यवस्था करें। मुख्य कार्यकारी अधिकारी अबरार अहमद ने विद्यालयों के दोपहर भोजन में सुधार की बात कही। उन्होंने बताया कि जिला कलक्टर ने स्वयं दौरा कर विद्यालयों में भोजन आदि व्यवस्थाओं की जांच व्यवस्थाओं की जांच की , इसके पश्चात विद्यालयों में मीड डे मिल में काफी सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि बच्चों को दिया जाने वाला गेहूं अच्छी क्वालिटी का हो। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए।
जिला परिषद के सदस्यों की मांग पर अबरार अहमद ने व्यवस्थाओं को सुधारने का आश्वासन दिया। उन्होंने शिक्षा, कृषि व अन्य संबंधित विभागों को समस्याओं का अतिशीघ्र निस्तारण करने के निर्देश दिए।
बैठक में मावली विधायक दलीचन्द डांगी, गोगुन्दा विधायक प्रताप लाल भील, अति. जिला कलक्टर (शहर) मो. यासीन पठान, जिला परिषद के सदस्य तथा संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here