Udaipur Post. हिन्दुस्तान जिंक द्वारा चलायें जा रहे शिक्षा संबंल कार्यक्रम के अन्तर्गत ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविरों में पंतनगर, उत्तराखण्ड सहित राज्य के 5 जिलों उदयपुर, राजसमंद, चित्तौडगढ़, भीलवाड़ा, अजमेर के 900 से अधिक बच्चें उत्साह से भाग ले रहे है। इन प्रशिक्षण शिविरों में बच्चों को विज्ञान, गणित और अंग्रेजी विषयों के साथ ही शारीरिक, खेलकूद, बौद्धिक और सांस्कृतिक गतिविधियां से जोडकर उनके सर्वागिंण विकास की और अग्रसर किया जा रहा है।
हिन्दुस्तान जिंक द्वारा विद्या भवन सोसायटी उदयपुर के सहयोग सेे विद्याभवन आॅडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में ग्रीष्मकालीन प्रषिक्षण शिविर की औपचारिक शुरूआत की गयी। 15 मई से 17 जून तक आयोजित होने वाले इस आवासिय प्रशिक्षण शिविर में 300 बच्चें भाग ले रहे है। हिन्दुस्तान जिंक द्वारा जावर, दरिबा, देबारी चित्तौडगढ़, आगूचा, और कायड में इसी प्रकार के आयोजित शिविरों में 600 से अधिक बच्चें लाभान्वित हो रहे है।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हिन्दुस्तान जिंक के कंपनी सचीव राजेंद्र पण्डवाल ने इस अवसर पर कहा कि विद्यार्थियों को इस मौके का लाभ उठाते हुए अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। वर्तमान समय में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान है साथ ही उसमें प्रतिस्पर्धा की भावना भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस शिविर में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को वें भविष्य में इंजिनियर और डाक्टर के रूप मं देखना चाहेगें।
इस अवसर पर वेदान्ता सीएसआर हेड श्रीमती निलिमा खेतान ने शिक्षा संबंल परियोजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए विद्यार्थियों से कहा कि अगर कोई भी बच्चा संकल्प ले कि उसे सफलता का मुकाम हांसिल करना है तो उसे कोई नहीं रोक सकता बस जरूरत है उसे जूनून और जज्बे कि जिससे उपलब्धि हांसिंल कर स्वयं को श्रेष्ठ साबित किया जा सके जिसके लिए एकाग्रता और संकल्प की आवश्यकता है।
हिन्दुस्तान जिंक के हेड कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने बताया कि हिन्दुस्तान ज़िंक सदैव आगे बढ़कर ग्रामीण बच्चों के संपूर्ण विकास के लिये आगे आता रहा है शिक्षा संबंल कार्यक्रम के तहत अध्यापन में अभाव महसूस कर रहे बच्चों के लिये 10 वर्षो से लाभान्वित किया जा रहा है व हमें बेहद खुशी है कि हजारो बच्चे इसका लाभ उठा चुके है। ग्रीष्मकलीन प्रशिक्षण शिविरों में शिक्षण के साथ ही सुरक्षा के प्रति जागरूकता, कौशल, व्यवहार तथा अन्य गतिविधियों जैसे खेलकूद और सांस्कृतिक कार्यक्रमो से बच्चों में व्यक्तिगत और शिक्षात्मक सुधार होगा।
शिक्षा संबंल कार्यक्रम के तहत हिन्दुस्तान जिंक द्वारा 10वीं कक्षा से 12वीं कक्षा में अध्ययनरत विद्यार्थियों को सरकारी विद्यालयों में जहा पद रिक्त है विज्ञान, गणित एवं अंगे्रजी के विषयध्यापकों द्वारा शिक्षा दी जा रही हैं। इस वर्ष 7 स्थानों पर आयोजित किये जा रहे ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविरों में छात्राओं की संख्या 50 प्रतिशत है जो कि हिन्दुस्तान जिंक के प्रति छात्राओं के अभिभावकों के विष्वास को दर्षाता हैं। इस आवासिय प्रषिक्षण षिविर में 10वीं एवं 12 वीं कक्षा में इस वर्ष प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को विशेषज्ञ अध्यापकों द्वारा अध्यापन कराया जा रहा है जिससे वे इन विषयों के बारें में सामान्य जानकारी को रूचिकर तरिकों से सीख सकें। इस प्रकार के शिविर का आयोजन उदयपुर में विगत दो वर्षो से किया जा रहा है 2016 में जहां 70 बच्चें इसमें प्रतिभागी थे वहीं 2017 में 200 बच्चों ने इसका लाभ लिया।
कार्यक्रम में विद्या भवन से आयोजन सचिव एसपी गौड, वरिष्ठ सदस्य कमल महेन्द्रु, विद्या भवन सोसायटी के शिक्षा सलाहकार प्रसुन कुमार सहित हिन्दुस्तान ज़िंक की सभी ईकाईयों के सीएसआर अधिकारी सहित छात्र-छात्राएं एवं अभिभावक उपस्थित थें।

LEAVE A REPLY