उदयपुर के निजी अस्पताल में तोड़ा दम
बाइक पर सवार होकर आए हमलावरों ने किए थे तीन फायर
बांसवाड़ा में धारा 144 लागू
पोस्टमार्टम रविवार को

न्यूज़ पोस्ट बांसवाड़ा। शहर में शनिवार शाम अंजुमन सदर सोहराब खान पर बाईक पर सवार होकर आए दो लोगों ने तीन फायर किए तथा मौके से भाग खड़े हुए। अचानक हुई फायरिंग की इस घटना से अफरातफरी मच गई तथा लोग सकते में आ गए। गोली लगने से सदर गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद उदयपुर रेफर किया गया। उदयपुर के जीबीएच अमेरिकन हॉस्पीटल में लाने के पहले उनकी साँसे थम गयी थी, आपात स्थित डॉक्टरों सदर की साँसे वापस लाने के काफी प्रयास किये सीपीआर दे कर सदर की थमती साँसों को वापस लाने के प्रयास भी काम नहीं आये और उन्हें मृत घोषित कर दिया गया . प्रशासन के कहने और माहोल के मद्देनजर दस बजे अस्पताल प्रशासन ने सदर की मौत की जानकारी दी। शव को उदयपुर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय के मुर्दाघर में रखा गया जहां रविवार सुबह पोस्टमार्टम सहित अन्य कार्यवाही होगी। जानकारी के अनुसार शनिवार शाम करीब छह बजे अंजुमन सदर सोहराब खान ईदगाह रोड पर रउफ लाला की घुमटी पर बैठे हुए थे। इस दौरान एक बाइक पर सवार होकर दो लोग आए और वाहन से नीचे उतर उन्होंने सदर सोहराब खान पर तीन फायर किए। हमलावर फायर करने के बाद मौके से भाग खड़े हुए। फायरिंग से सदर घायल होकर गिर पड़े। अचानक हुए इस घटनाक्रम से क्षेत्र के लोग सकते में आ गए तथा अफरा तफरी मच गई।

सदर के गले में गोली लगने की वजह से उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी । बांसवाड़ा में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें उदयपुर रेफर किया गया। उदयपुर में सदर को जीबीएच अमेरिकन निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया अस्पताल सूत्रों की माने तो सदर की साँसे रास्ते में ही थम गयी थी, निजी अस्पताल में लेजाने के बाद उनकी थमी हुई साँसों को सीपीआर देकर वापस लाने की कोशिशें भी काम नहीं आई और रात करीब दस बजे अस्पताल प्रशासन ने उनकी मौत की जानकारी दी। इसके बाद शव को महाराणा भूपाल चिकित्सालय के मुर्दाघर ले जाया गया जहां रविवार सुबह पोस्टमार्टम व अन्य कार्यवाही होगी।

नाकाबंदी शुरू, धारा 144 लागू
इस घटना के बाद हमलावरों की धरपकड़ को लेकर बांसवाड़ा सहित संभाग भर में नाकाबंदी शुरू कर दी गई है। डूंगरपुर में भी इसे लेकर जिले भर में नाकाबंदी शुरू की गई। स्थान-स्थान पर पुलिस बल वाहनों की चैकिंग कर रहा है। इधर प्रशासन ने इस घटना के बाद बांसवाड़ा शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने को लेकर धारा 144 लागू कर दी है। पुलिस हालात पर पूरी नजर रखे हुए है तथा अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया है। गौरतलब है कि सदर सोहराब खान के पहले उसके बड़े भाई अबुलाला अंजुमन के सदर थे और उनकी भी रंजिश के चलते तीन साल पहले गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अबुलाला की हत्या में सिराज की भूमिका सामने आई थी।

अस्पताल में लोगों की भीड़, जताया आक्रोश
सदर पर फायर की खबर शहर में जंगल में आग की तरह फैल गई। अस्पताल में बड़ी सं या में लोग एकत्र हो गए तथा उन्होंने इस घटना पर जमकर आक्रोश जताया। मौके पर एएसपी गणपति महावर, उपाधीक्षक वीराराम चौधरी, एसडीएम डॉ. भंवरलाल, अंजुमन के पदाधिकारी, पंचों के सदर पहुंचे एवं आक्रोशित लोगों को समझाइश कर शांत किया।

LEAVE A REPLY