उदयपुर। लगता है मेवाड़ में नेताओं के दिमाग या तो हवा हो गए है या फिर खराब हो गए है। जो जीत गया उनके हवा हो गए जो हार गया उनके खराब हो गए। ऐसे नेता अपनी खीज हर किसी के सामने निकालने लग गए है।
हम बात कर रहे है उदयपुर शहर विधानसभा से चुनाव हारने वाली कांग्रेसी नेता गिरजा व्यास की, जो इस बात पर उखड गयी कि जब वह अस्पताल में स्वाइन फ्लू के मरीजों का दौरा करने गयी और उन्हें कोई कैमरामैन व् पत्रकार नज़र नहीं आये। दौरा करने के बाद जब उनके घर लोट रही थी तब घर के बाहर पत्रकार भगवान् प्रजापत व् राम सिंह स्वाइन फ्लू के सम्बन्ध में उनकी बाईट लेने पहुचें तो यह कांग्रेस की वरिष्ठ और कद्दावर नेता महोदया ने इन दोनों पत्रकारों पर अपनी खीज निकाल ली, पत्रकारों को देखते ही कहा “तुम्हे शर्म नहीं आती तुम अब आये हो अस्पताल में क्यूँ नहीं आये, तुम्हारी शिकायत करूगीं तुम्हारे मालिकों से” यह शब्द है एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गिरजा व्यास के।

हम मैडम से कहना चाहते है कि मेडम शायद भूल गयी है कि पत्रकार आपके ख़रीदे हुए तोते नहीं है, जिन्हें जो मर्जी हो कह सकें जो मर्जी हो बुलवा सकें ना ही आपके घर के नोकर जिन्हें जब चाहें जहाँ चाहे हडका दें।
आपको चेनलों या अखबार के मालिकों से शिकायत करनी है तो जरूर करें , और इंतज़ार करें कि आपके बाकी के कवरेज़ के लिए अब अखबार व चेनल के मालिक खुद आकर करेगें। मेडम इतनी बड़ी नेता हैं तो मेडम को यह समझ लेना चाहिए कि एक पत्रकार अपनी मर्ज़ी से आपके कार्यक्रम के कवरेज के लिए आता है वह बाध्य नहीं है, चाहे राज्य में आपकी सत्ता हो चाहे आप कितने ही बड़े नेता जनप्रतिनिधि हो आपको पत्रकार हो या आम जनता इनसे हद और तमीज़ में रह कर ही बात करनी पड़ेगी। पत्रकार आपका कर्मचारी या आपका गुलाम नहीं है नहीं है कि आपकी मर्जी चाहे वैसी बात कह दें। मेरे हिसाब से तो उदयपुर के पत्रकारों को ये बड़ी नेता माननीय गिरजा व्यास के कवरेज का बहिष्कार करना चाहिए लोकसभा चुनाव तक तब शायद इन्हें पता चले की शर्म इन्हें आनी चाहिए या पत्रकारों को।
गिरजा व्यास के इस रवय्ये की लेकसिटी प्रेस क्लब के अध्यक्ष रफीक पठान व् सभी पत्रकारों ने निंदा की है।

ये खबर वरिष्ठ पत्रकार “अख्तर खान” ने लिखी है अगर गिरजा व्यास मेडम चाहें तो इसकी शिकायत कहीं भी कर सकती है।

1 COMMENT

  1. Bilkul shi he sirji . Patrakar loktantra ka choutha stambha he uska apman asahniya he. Sathiyo ap sangharsh kro hum apke sath he.

LEAVE A REPLY