पॉपुलरफ्रंट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अभियान ‘हम भी कुछ कहेंगे’ को रविवार को जयपुर का भरपूर समर्थन मिला। देशभर में 7 अक्टूबर से चल रही ग्रांड कॉन्फ्रेंस की कड़ी में रविवार को जयपुर के करबला मैदान में सांप्रदायिक, देश को बांटने वाली हिंदूवादी ताकतों के खिलाफ कई संगठनों, संस्थाओं, सियासी पार्टियों ने जमकर नाराजगजी जताई, वहीं मैदान में मौजूद करीब एक लाख लोगों की भीड़ ने ऐसी ताकतों के साथ किसी सूरत में समझौता नहीं करने पर हाथ उठाकर समर्थन जताया।
पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय चेयरमैन ई. अबूबक्र ने अध्यक्षता करते हुए फासीवादी ताकतें देश में हिंदुत्व का एजेंडा लागू करना चाहती हैं, जबकि पॉपुलर फ्रंट हर हाल में देश की एकता इसके संविधान का प्रयास करेगा। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. अर्चना शर्मा ने कहा कि वर्तमान में देश के डवलपमेंट को डवलमेंट डिजास्टर में बदल दिया गया गया है। उन्होंने नोटबंदी को महिलाओं की बचत के लिए खतरा बताया। ऑल इंडिया इमाम काउंसिल के प्रदेशाध्यक्ष मौलाना असरार अहमद ने पैगंबर मोहम्मद साहब के बताए रास्ते पर चलने का आह्वान किया। विश्व हिंदू सत्यशोधक मिशन के संस्थापक स्वामी सत्यानंद महाराज ने भरोसा दिलाया कि देश के धर्म निरपेक्ष सोच रखने वाले हिंदू मिलकर फासी ताकतों का मुकाबला करेंगे। समाजवादी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष मुकेश यादव ने कहा कि अलवर का पहलू खान सच्चा गोभक्त था जो गायों को पाल रहा था। उन्होंने कहा कि जनता को केंद्र की नोटबंदी, जीएसटी सहित सभी योजनाओं से नुकसान हुआ है। समग्र सेवा संघ के सवाई सिंह ने कहा कि गरीब मुसलमान किसान गायों को पालते हैं, लेकिन इस नाम पर भी राजनीति होती है। उन्होंने बताया कि वर्तमान सत्ताधारी लोग जनता को भ्रमित करके सत्ता पर बैठे हैं और अब समाज को बांट रहे हैं।
क्या है पीएफआई 
फ्रंटके राष्ट्रीय सचिव अनीस अहमद ने पॉपुलर फ्रंट का परिचय दिया। उन्होंने बताया कि संगठन समाज के पिछड़े वंचित तबकों और खास तौर पर मुस्लिम समुदाय के विकास, सुदृढ़ीकरण के लिए काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि जो ताकतें फ्रंट को प्रतिबंध करने की कोशिश में हैं, उन्हें प्रतिबंध करने को कुछ नहीं मिला।
जयपुर। पॉप्यूलरफ्रंट की ओर से करबला में ग्रांड कॉन्फ्रेंस के दौरान मंचासीन वक्ता।
कॉन्फ्रेेंस में दलित समाज की ओर से इंद्रराज मेघवाल, पूर्व मंत्री गोपाल केसावत, रामस्नेही संप्रदाय के संत बजराम, कांग्रेस से प्रदेश उपाध्यक्ष अमीन कागजी, मुमताज मसीह, उमदराज, अलायंस फॉर एंड पीस के जस्टिस कोलसे पाटिल, एसपीडीआई के राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद शफी, प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद रिजवान खान, राज. मुस्लिम फोरम के कन्वीर कारी मुईनुद्दीन, फादर विजय पॉल, वीमेन इंडिया मूवमेंट की अध्यक्ष यासमीन फारूकी, वाल्मीकि समाज के अध्यक्ष सुरेश कल्याणी, जमीयत उलेमाए राजस्थान के कोषाध्यक्ष मुफ्ती अखलाकुर्रहमान कासमी, शिया जामा मस्जिद के इमाम मौलाना सैयद सई अख्तर काजमी, दलित मुस्लिम एकता मंच के अध्यक्ष अब्दुल लतीफ आरको, एनसीएचआरओ उपाध्यक्ष मेहरुन्निसा खान, कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष हैदर अली समेत कई शख्सियतों ने भी शिरकत की।

LEAVE A REPLY