उदयपुर। बारिश के मोसम में उदयपुर में स्वाइन फ्लू के कहर ने चिकित्सा विभाग की नींद उड़ा दी है। शनिवार को भी पांच स्वाइन फ्लू के मरीज पोजेटिव निकले। इससे पहले एक की मृत्यु हो जाने से चिकित्सा विभाग सकते में आगया है। शनिवार को चिकित्सा विभाग की टीम दिन भर प्रभावित इलाकों में दवाइयां बांटने में लगी रही।
गर्मी के बाद बारिश के मौसम में जहाँ मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियों से बचने की कोशिश में रहता है चिकित्सा विभाग लेकिन अचानक स्वाइन फ्लू के मरीज आने से चिकित्साविभाग में हडकंप मच गया है। जनवरी से अब तक अकेले उदयपुर २१ मरीज स्वाइन फ्लू के आचुके है जिसमे पांच मरीज की पुष्ठी आज हुई इसके अलावा एक मरीज जयपुर का और २ मरीज चित्तोड़ के बताये जारहे है। स्वाइन फ्लू पॉजिटिव मरीज भुवाणा निवासी 57 वर्षीय अनिल मेहता की शुक्रवार सुबह अहमदाबाद के अस्पताल में मौत हो गई। स्वाइन फ्लू से यह इस साल की दूसरी मौत है। दीप्ती सीएमेचो राघवेन्द्र रॉय ने बताया कि सर्दी-गर्मी के बाद अब बारिश में भी स्वाइन फ्लू के केस सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए पॉजिटिव मरीजों के परिजनों और आस-पास के लोगों के सैंपल लेकर लैब भेजे हैं। चिकित्सकों की टीम स्वाइन फ्लू से प्रभावित परिवारों और क्षेत्रों की स्क्रीनिंग कर रही है। कई लोगों का चेकअप करवा कर जांच करवाई गयी है। जहाँ जरूरत हो वहां दवाईया भी दी जारही है।
पिछले तीन दिन से जुकाम और बुखार से पीड़ित गोवर्धन विलास थानाधिकारी गीतांजलि हॉस्पिटल में भर्ती थे। शुक्रवार को दोपहर स्वाइन फ्लू जांच रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। इसके बाद उन्हें अहमदाबाद के लिए रैफर कर दिया गया है। थानाधिकारी ने बताया कि उनकी हालत अभी सामान्य है। एहतियात के तौर पर सावधानियां बरती जा रही हैं। सीएमएचओ डॉ. संजीव टांक और डिप्टी सीएमएचओ डॉ. राघवेन्द्र राय ने बताया कि कई टीमें भेजकर भुवाणा, गिर्वा तहसील कार्यालय, गोवर्धन विलास, पानेरियों की मादड़ी सहित जिले के कई क्षेत्रों में इसकी दवाई बंटवाई।
गौरतलब है कि जिले में इस साल अब तक 21और 4 साल में 231 स्वाइन फ्लू के पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 20 की मौत हो चुकी है। इस साल जनवरी से अभी तक एमबी हॉस्पिटल के 21 स्वाइन फ्लू के पॉजिटिव केस सामने आ चुका है। इस वर्ष पहली बार ऐसा हुआ जब गर्मी के मौसम में 30 अप्रैल को स्वाइन फ्लू का पहला केस सामने आया था। यह केस शहर के फतहपुरा के 60 वर्षीय बुजुर्ग पुरुष का था। इसके बाद 9 मई को आरएनटी मेडिकल कॉलेज के रेजीडेंट को स्वाइन फ्लू हुआ था। रेजीडेंट पिछले अहमदाबाद में वेंटिलेटर पर रखा गया था।
इस साल 29 मई को भी उदयपुर निवासी वंदना शर्मा (भानु कुमार शास्त्री के भाई की पत्नी) की अहमदाबाद में मौत हो गई थी। इसके बाद इस साल बारिश का स्वाइन फ्लू पॉजिटिव रोगी 5 जुलाई को सामने आया था। हाल कमला नगर निवासी एक एनआरआई पुरुष स्वाइन फ्लू संदिग्ध रोगी एक निजी अस्पताल में पहुंचा, जहां जांच में वह स्वाइन फ्लू पॉजिटिव निकला। गत 28 जून को चित्तौडग़ढ़ निवासी 30 वर्षीय एक स्वाइन फ्लू रोगी अस्पताल में भर्ती हुआ है, जो उपचार के बाद स्वस्थ होकर अपने घर लौट गया है।

LEAVE A REPLY