हिन्दुस्तान ज़िंक के आतिथ्य में हो रही है विष्व के 30 देषों के प्रतिनिधियों द्वारा जिं़क उत्पादन, उपयोग एवं बच्चों में जिंक की कमी पर चर्चाएं
7 से 11 सितम्बर, 2014 तक चलेगा अधिवेषन

DSC_0009
उदयपुर | भारत की सबसे बड़ी एवं दुनिया की जानमानी एकीकृत जस्ता उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान ज़िंक के आतिथ्य में एषिया की पहली जिं़क कॉलेज अधिवेषन का शुभारम्भ 7 सितम्बर, 2014 को होटल उदयविलास, उदयपुर में हुआ। विष्व के लगभग 30 देषों के 75 प्रतिभागी जिं़क कॉलेज अधिवेषन में भाग ले रहे हैं। हिन्दुस्तान जिं़क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, श्री अखिलेष जोषी जिं़क कॉलेज-2014 के अध्यक्ष घोषित किये गये है।

इण्टरनेषनल जिं़क एसोसियसन द्वारा आयोजित जिं़क कॉलेज में व्याख्यान, समूह सत्र एवं जस्ता प्रद्रावण का अवलोकन शामिल है। जिं़क उत्पादन, मार्केटिंग एवं सेल्स, एपलीकेसन्स, लण्दन मेटल एक्सचेंज में ट्रेडिंग, स्टेटिक्स, कम्यूनिकेषन्स, एन्वायरमेंट, हेल्थ एण्ड क्रॉप न्यूट्रीषियन एवं सतत् विकास पर गहन विचार-विमर्ष एवं चर्चाएं आयोजित की जाएंगी। इण्टरनेषनल जिं़क एसोसियसन के सदस्य एवं सलाहकार, सार्वजनिक एवं निजी कंपनियों के वरिष्ठ अघिकारी जिं़क कॉलेज के प्रषिक्षक होते हैं। व्याख्यान एवं विचार-विमर्ष के अतिरिक्त, ‘बच्चों को बचाने में जिं़क’ ‘उर्वरक में जिं़क’ तथा दूसरे प्रयोगों में जिं़क के उपयोगों पर चर्चाएं की जाएगी। विष्व उद्योग जगत में भारत को जिं़क एवं इस्पात के उत्पादन को उभरते हुए बाजार के रूप में देखा जा रहा है। 2012 का जिं़क कॉलेज सम्मेलन ब्राजील के रियो डी जनेरियो में आयोजित किया गया था।

Gruop Photo

कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए हिन्दुस्तान जिंक मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अखिलेष जोषी ने हिन्दुस्तान जिंक के बढ़ते उत्पादन व क्षमताओं के बारे में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिभागियों को अवगत कराया। हिन्दुस्तान जिं़क ने पिछले 10 वर्षों में 12000 करोड़ रुपये का निवेष कर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी एक उत्कृष्ट पहचान बनाई है। हिन्दुस्तान जिं़क ने नई तकनीक, पर्यावरण एवं स्वास्थ्य व सुरक्षा को ध्यान में रखकर अपनी विस्तार योजना को क्रियान्वित किया है।
इस वर्ष जिं़क कॉलेज के मुख्य वक्ताओं में सम्मिलित हैं स्टीफन विल्किनसन (एक्जीक्यूटीव डायरेक्टर-आई.जेड.ए.), डॉ.फ्रैंक गुडविन (ग्लोबन डायरेक्टर-आई.जेड़.ए.), क्लेयर हैस्ल (प्रीन्सिपल-सी.एच.आर. मेटल्स), जेनेवीवे बेगकियोन (चीफ ऑफ हेल्थ-यूनिसेफ), पॉल व्हाईट (डायरेक्टर-इण्टरनेषनल लेड जिं़क स्टेडी ग्रुप), टॉनी ग्रीन (ग्रेनीवेन कन्सलटिंग), मो अहमदजादेह (आईएनटीएल एफसी स्टोन, यू.एस.ए.), ग्राहम वुड (टेक्निीकल डायरेक्टर-एमईसी अमेरिका), मार्क डी जोन्गह (डायरेक्टर-अमिकॉर), मैरीन सेहोनेनबीक (रेहीनजिंक), मार्टीन गेन्ज, आई.जेड़.ए. कनाड़ा, विलियम मार्कक्यूज-डायरेक्टर-आई.जेड़.ए., ब्राजील), बेन काटोनियो-एसेन्चर रिस्क मैनेजमेंट), मार्टीन वेब-जी.एम- एमएमजी लि.), सेन्डर डि लीवा-कार्मिषियल डायरेक्टर-बोलीडिन मिनरल एबी), ल्यूस इडूयरडो वूलकॉट-काम्पनिया मिनरय मिल्पो), एण्ड बेरीट विरथ्स-मैनेजर कम्यूनिकेषन-आईजेडए)।

प्रतिभागियों के साथ चर्चाओं से लाभ लेने के लिए हिन्दुस्तान जिं़क के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुनील दुग्गल, उप-मुख्य कार्यकारी अधिकरी एवं अमिताभ गुप्ता-मुख्य वित्तीय अधिकारी को पेनल चर्चाओं में सम्मिलित होंगे।

भारत से दूसरे मुख्य वक्ताओं में लक्ष्मण शेखावत-मुख्य प्रचालन अधिकारी-माइन्स, हिन्दुस्तान जिंक, अखिलेष शुक्ला-हेड-रिसर्च एण्ड डवलपमेंट-हिन्दुस्तान जिंक, राहुल शर्मा-निदेषक-आईजेड़ए एण्ड डॉ. सुमी़त्रा दास-निदेषक, जिं़क न्यूट्रीषियन इनीसिएटिव-इण्डिया, आईजेड़ए शामिल रहेंगे।

LEAVE A REPLY