उदयपुर। एक तरफ केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार महिलाओं के सम्मान और स्वाभिमान की बड़ी बड़ी बातें करती है दूसरी तरफ उदयपुर जिले के गोगुन्दा पंचायत समिति के भाजपा समर्थित प्रधान मोड़ी पंचायत के सरपंच को उनकी माँ, बहनो और बच्चियों के लिए इस तरह गन्दी गन्दी गालियां देता है जिसको सुन कर एक आम आदमी का भी खून खोल जाए।
गोगुन्दा के प्रधान पुष्कर तेली द्वारा मोड़ी पंचायत के सरपंच प्रह्लाद सिंह झाला को फोन पर माँ बहन की गन्दी गन्दी गालियां देने के बाद मेवाड़ के क्षत्रियों का खून खोल गया है। मेवाड़ क्षत्रिय महासभा ने भाजपा के देहात जिलाध्यक्ष गुणवंत सिंह झाला को कार्रवाई ना करने के सूरत में आंदोलन करने की चेतावनी तक दे डाली है। पार्टी पोलटिक्स से ऊपर उठ कर राजपूत समाज में गोगुन्दा प्रधान द्वारा एक क्षत्रिय की माँ बहन के लिए इस तरह की गालिया और अपशब्दों का प्रयोग करने से भारी रोष फ़ैल गया है। पुष्कर तेली द्वारा प्रह्लाद सिंह झाला को मोबाइल फोन पर दी गयी गालिया व्हाट्सप्प पर वायरल हो गयी जिसका हर राजपूत ही नहीं आम आदमी ने भी विरोध किया है।
इस सम्बन्ध में मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के महामंत्री तनवीर सिंह कृष्णावत ने रोष जताते हुए कहा कि अगर पुष्कर तेली के खिलाफ पार्टी स्तर पर कोई कारवाई नहीं की गयी तो क्षत्रिय समाज से जुड़े भाजपा के पदाधिकारी अपने पद से इस्तीफा दे देगें। तनवीर सिंह कृष्णावत ने कहा कि क्षत्रिय परिवार की महिलाओं के लिए इस तरह के शब्द किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किये जायेगें और इसके खिलाफ कारवाई के लिए क्षत्रिय समाज एक हो कर आन्दोलन करेगा।
यही नहीं सत्ता के मद में चूर प्रधान पुष्कर तेली ने शुक्रवार को विकास अधिकारी के साथ मारपीट की, साथ ही धमकी दी कि यदि उसके कहे अनुसार काम नहीं किया तो अंजाम बुरे होंगे। इस दौरान प्रधान यह भी कहने से नहीं चूके कि राज्य में सरकार उनकी है और वह उसका नौकर है। पुलिस ने रिपोर्ट के आधार पर प्रधान तेली के खिलाफ राजकार्य में बाधा, गाली-गलौच, धमकी देने और मारपीट का प्रकरण दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY