उदयपुर। जाने कैसा हो गया है आज का इंसान ,.. जाने क्या हो गया है आज के लोगों को ,.. मोका मिलते ही इंसान की शक्ल में छुपा जानवर बाहर आजाता है और इंसानियत को शर्सार करदेने वाली घटना को अंजाम दिया जाता है।
ऐसे ही हुआ राजस्थान के उदयपुर जिले के एक गाँव में,.. जहाँ इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना हुई। प्रेमी जोड़े को निर्वस्त्र कर गाँव भर में घुमाया गया लोग तमाशा देखते रहे और विडियो बनाते रहे। महिला गिदगिड़ाती रही ,.. घटना को अंजाम देने वालों में शामिल महिला से पीड़ित महिला कपडे नहीं उतारने और महिला होने कि दुहाई देती रही लेकिन किसी ने एक ना सुनी। पहले प्रेमी जोड़े को रात भर पीटा और सुबह गाँव भर में निर्वस्त्र कर घुमाया
यह घटना है राजस्थान के उदयपुर जिले में सरे गाँव की। पुलिस के अनुसार महिला की पांच वर्ष पहले सरे खुर्द निवासी तारु गमेती से शादी हुई थी। तीन वर्ष तक महिला उसके साथ रही, उससे इसका दो-ढाई साल का बच्चा है। इसके बाद महिला झाड़ोल निवासी मांगीलाल के साथ रहने लगी, इससे भी एक वर्ष का बच्चा है।
करीब डेढ़ से दो वर्ष इसके साथ रहने के बाद महिला का पिछले कुछ महीनों से सरे खुर्द निवासी रामलाल (22) पुत्र मोहनलाल से प्रेम प्रसंग हुआ। रामलाल सवारी टेंपो चलाता है और महिला मजदूरी करने गांव से आती थी। इनका मिलना-जुलना शुरू हुआ। महिला रामलाल से शादी करने का विचार कर रही थी। रामलाल भी शादीशुदा है। उसकी पत्नी पीहर गई हुई थी। इस पर रामलाल ने महिला को सरे खुर्द गांव में अपने घर बुला लिया। महिला ने रामलाल को यह नहीं बताया था कि यह गांव उसके पहले पति तारु का है। गुरुवार रात को तारु को महिला के गांव आने और रामलाल के घर होने का पता चला तो वह छोटे भाई हरीश और चाचा लालू के साथ उसके घर पहुंच गया। वहां दोनों के साथ रात को मारपीट की। इसके बाद लालू की पत्नी शांतिबाई ने महिला के कपड़े फाड़े। प्रेमी युगल को निर्वस्त्र किया गया और दोपहर 12 से 1 बजे के बीच दोनों को करीब 100 से 150 फीट तक गांव में घुमाया। इस दौरान तारु के तीन दोस्तों ने इनका पूरा वीडियो भी बनाया।
महिला ने बताया कि पहले पति ने मुझे और प्रेमी को रातभर मारा। सुबह कहा कि निर्वस्त्र कर गांव में घुमाएंगे। काकी सास शांति मेरे कपड़े फाड़ रही थी। मैं उसके सामने गिड़गिड़ाई, लेकिन उसने मेरी एक नहीं सुनी। महिला होने की दुहाई भी दी। मेरे कपड़े तार-तार कर दिए। मुझे रस्सी से बांधा। मेरे साथ उसको भी बहुत पीटा और रस्सी से बांधकर हमें गांवभर में घुमाया। मैं शर्म से सिर झुकाकर रो रही थी, कि शायद किसी को दया आ जाए और मेरे शरीर पर कोई कपड़े डाल दे, लेकिन सभी तमाशा देख रहे थे। कुछ लोगों ने हमारे वीडियो भी बनाए, लेकिन कोई मदद के लिए नहीं आया।
घटना को अंजाम देने के आरोपी महिला के पति तारु गमेती पुत्र मांगीलाल, उसके भाई हरीश, चाचा लालू और लालू की पत्नी शांतिबाई को गिरफ्तार कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY